सिद्धार्थनगर: नौ साल बाद स्वजन से मिला लापता बालक

3

सिद्धार्थनगर : करीब नौ वर्ष पहले परिवार से पिछड़ा बालक बुधवार को मिला तो मां की आंखों से आंसू छलक पड़े। विभिन्न शहरों में होते हुए बालक पिछले साल से सिद्धार्थनगर में रह रहा था, तभी से स्वजन की तलाश की जा रही थी। प्रयास सफल रहा और आज बच्चे को उनकी मां शफीकुन्निसां को सौंपा गया।

गुलाम नबी जब पांच वर्ष का था, तभी कहीं गायब हो गया। बेटे के पिछड़ने के गम में मां बदहवास हो गई। इधर-उधर भटकता बालक किसी रासलीला मंडली में पहुंच गया, जहां वह कार्यक्रम में मंचन करने लगा। मथुरा पर पुलिस वालों की नजर पड़ी और पूछताछ में जब वह कुछ बता नहीं पाया तो उसे बालगृह के संरक्षण में दिया गया। फिरोजाबाद, अलीगढ़, हाथरस, बलरामपुर होते हुए विगत वर्ष अगस्त 2020 में इस जनपद में आया, यहां मधुबेनिया बर्डपुर स्थित बालगृह में रखा गया, जहां 10 से 14 वर्ष के इस तरह के बच्चे रखे जाते हैं। स्वजन की तलाश जारी रही। एक सप्ताह पहले पता चला कि बालक इटवा तहसील क्षेत्र के भावपुर का है, जिम्मेदार आए और पता करके वापस हुए। कागजी कोरम पूरा करने के उपरांत आज संरक्षण अधिकारी प्रशांत सिंह राघव, बालगृह के मुकेश कुमार कन्नौजिया न्याय पीठ बाल कल्याण समिति सदस्य बालक को लेकर गांव आए और ग्रामवासियों की मौजूदगी में उसे उनकी मां को सौंपा गया। सफाई न होने से सड़क पर बह रहा घरों का पानी सिद्धार्थनगर : आदर्श नगर पंचायत बढ़नी को गंदगी से मुक्त बनाकर स्वच्छता का माहौल बनाने में नगर पंचायत प्रशासन का दावा हवा-हवाई साबित हो रहा है। मुख्य चौराहों से लेकर प्रमुख सड़क और गलियों में फैले गंदगी के ढेर इसकी हकीकत बयां कर रहे हैं। बैंक रोड़ की गली में नालियों का पानी बह रहा है, जिससे उठने वाले दुर्गंध से आस-पास के दुकानदारों का जीना मुहाल कर दिया है।

यह भी पढ़ें:  Siddharthnagar: हाईटेंशन तार की चपेट में आने से युवती की मौत

source: jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here