Home News जानिए कौन था आयशा की जिंदगी में पति के अलावा दूसरा शख्स,...

जानिए कौन था आयशा की जिंदगी में पति के अलावा दूसरा शख्स, इस वजह से पीटता था आरिफ!

गुजरात के अहमदाबाद की आयशा ने पिछले दिनों पति से तंग आकर साबरमती में कूदकर अपनी जान दे दी. साबरमती में छलांग लगाने से पहले आयशा ने एक वीडियो मैसेज जारी किया था. जो उसने अपने मां-बाप के लिए रिकॉर्ड किया था. वह वीडियो पैगाम दुनिया भर में सोशल मीडिया के ज़रिए देखा गया. अब खबर आ रहा है कि आयशा ने अपने पति आरिफ के नाम एक खत भी लिखा था. जिसे भी पोस्ट नहीं कर पाई थी.

आसिफ नाम के शख्स पर शक करता था पति
आयशा ने यह खत हिंग्लिश (हिंदी नुमा अंग्रेजी) में लिखा था. बताया जा रहा है कि यह खत आयशा का केस लड़ रहे वकील ने अदालत में भी पेश किया है. खत में आयशा ने आसिफ नाम के शख्स का भी जिक्र किया है. आसिफ को आयशा ने अपना सबसे बेहतरीन दोस्त बताया और बेस्ट भाई बताया. आयशा ने कहा कि आरिफ हमेशा अपनी गल्तियों पर पर्दा डालने के लिए मेरा नाम आसिफ के साथ जोड़ता था. खत में आयशा कहती है कि माय लव आरु (आरिफ), मुझे बहुत गलत लगा कि तुमने मेरा नाम आसिफ के साथ जोड़ा. आसिफ मेरा सबसे अच्छा दोस्त और भाई था.

मेरी हर बात तुम्हें अजीब लगती थी
खत से पता चलता है कि आरिफ आयशा को समय नहीं देता था. क्योंकि आयशा ने खत में लिखा एक बार प्यार से पूछते तो हर कंफ्यूजन दूर हो जाता है. लेकिन तुम्हारे पास वक्त ही कहां था. तुम हमेशा अपने आप में बिजी रहते थे. मेरी हर बात तुम्हें अजीब लगती थी, वेस्ट लगती थी. आयशा कहती है है मुझे पता है कि तुम मुझसे खीज का चुके हो. क्योंकि तुम्हारे दिमाग में मेरे लिए गलत सोच आ गई थी.

“बहुत नाराज हूं तुमसे”
आयशा ने खत में आगे लिखा, ‘आरु, नाराज तुमसे हूं, बहुत नाराज हूं, धोखा दिया है तुमने मुझे. खत में आयशा आगे लिखती है कि इतना सब कुछ होने के बावजूद मैं फिर भी प्यार करती हूं, बहुत करती हूं, मैं तुम्हारा अलावा किसी और की नहीं हो सकती. इसलिए मैंने सोच लिया कि चली जाऊं यहां से, यहां न मेरे कुरान की इज्जत है न मेरे इमान की.’

4 दिन तक कमरे में रखा बंद
पत्र में कहा गया है कि वह चार दिनों तक बिना भोजन और पानी के एक कमरे में अकेली रही, लेकिन आरिफ उसे देखने नहीं आया. और जब आया, तो उसे पीटा और इस दौरान उसे चोट भी लगी. एक खबर के मुताबिक खत में लिखा गया कि मारने पीटने से मेरे लिटिल आरू की मौत हो गई. अब मैं उसके पास जा रही हूं. आयशा खत में लिखती है कि आरिफ ने मुझे इंग्नोर किया, चोट पहुंचाई, बेइज्ज़ती की लेकिन वो यह भूल गया था कि मेरा भी पत्नी के नाते उस पर कोई हक है.

तुम्हारी आंखों पर फिदा हूं
एक खबर के मुताबिक आयशा ने कहा कि मैंने कभी धोखा नहीं दिया. हंसती खेलती दो जिंदगियां बर्बाद हो गई हैं. मैं गलत नहीं थी, गलत आपका स्वभाव था. साथ ही उसने खत में अपने शौहर आरिफ की आंखों के लिए लिखा,”मैं आज भी आपकी आंखों पर फिदा हूं. क्यों, ये मैं अगले जन्म मैं बताऊंगी.”

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version