गांवों की सड़कों पर भ्रमण करेगी 108 आंतरिक क्लस्टर टीम

2

सिद्धार्थनगर : मतदान के दिन गांवों की सड़कों पर पुलिस व प्रशासन की क्लस्टर टीम भ्रमण करेगी। कहीं भी लोगों की अनावश्यक भीड़ को हटाने व क्षेत्र पर नजर रखने का काम करेगी। बेवजह सड़कों पर फर्राटा भर रहे वाहनों की भी यह टीम चेकिग करेगी। आयोग के निर्देश पर 54 क्लस्टर टीम गठित की गई है। इसमें प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम मौजूद रहेगी। इसके अलावा पुलिस ने 108 आंतरिक क्लस्टर टीम बनाई है। इसमें संबंधित थाना के एक दरोगा व बाहरी फोर्स मौजूद रहेगी।

 

पुलिस ने सकुशल मतदान संपन्न कराने के लिए रणनीति तैयार की है। सभी थाना में गठित आंतरिक क्लस्टर टीम के लिए रूट चार्ट बनाया गया है। इस में टीम में आठ से दस की संख्या में जवान मौजूद रहेंगे। इन्हें दस मतदान केंद्रों की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। चार पहिया वाहन भी उपलब्ध कराया जाएगा। विपरीत परिस्थितियों में यह टीम 15 मिनट के भीतर संबंधित मतदान केंद्र पर पहुंच जाएगी। जवानों के पास असलहा के साथ लाठी व डंडा मौजूद रहेगा। हैंडसेट भी उपलब्ध कराया जाएगा। सीओ चुनाव सेल प्रदीप कुमार यादव ने बताया कि सभी थानों को रूट चार्ट बनाने के लिए निर्देशित किया गया है। एएसपी सुरेश चंद रावत ने बताया कि सभी थानों में क्लस्टर टीम को ट्रेनिग देने की व्यवस्था की जा रही है। बाहरी फोर्स को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो इसलिए इनके साथ संबंधित थाना के पुलिस कर्मी को भी लगाया जाएगा। सुबह छह से रात दस बजे तक कर सकेंगे प्रचार सिद्धार्थनगर : राज्य निर्वाचन आयोग ने आदर्श चुनाव आचार संहिता जारी की है। इसमें बताया गया है कि प्रत्याशियों को आचार संहिता का पालन करना होगा। नियम विरुद्ध ऐसा कोई काम नहीं करें, जिससे वह कार्रवाई की जद में आएं। इससे उनका चुनाव प्रभावित होगा, विधिक कार्रवाई भी की जाएगीराज्य निर्वाचन आयोग ने बताया है कि सुबह छह से रात दस बजे तक ही चुनाव प्रचार करने का नियम है। अगर इसके बाद कोई प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ प्रचार नहीं कर सकता है। लाउडस्पीकर व साउंड बाक्स का प्रयोग करने से पहले प्रशासन से अनुमति प्राप्त करना होगा। स्थायी तौर पर लाउडस्पीकर व साउंड बाक्स नहीं लगाने की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी। टीवी चैनल, केबिल नेटवर्क, वीडियो वाहन और रेडियो पर किसी प्रकार का प्रचार नहीं किया जाएगा। इसके लिए प्रशासन अनुमति प्रदान करेगा। चुनाव प्रचार में चलने वाले वाहनों के प्रयोग के लिए भी अनुमति लेनी होगी। अगर किसी प्रत्याशी को दूसरे उम्मीदवार के प्रचार सामग्री पर आपत्ति है तो वह उसे स्वयं नहीं हटाने का प्रयास करें। नियम संगत शिकायत दर्ज कराने के बाद प्रशासन के माध्यम से हटाया जाएगा।।

यह भी पढ़ें:  सिद्धार्थनगर: ट्रक ड्राइवर की लापरवाही से, मोटरसाइकिल से जा रहे पुलिसकर्मी की गयी जान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here