सिद्धार्थनगर: प्रदेश में जीजीआईसी बना कोडिंग प्रोग्राम का पहला कॉलेज

14

सिद्धार्थनगर। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत कोडिंग प्रोग्राम अंतर्गत राजकीय बालिका इंटर कॉलेज तेतरी बाजार का चयन किया गया है। यह उत्तर प्रदेश का पहला कॉलेज होगा, जहां 100 छात्राओं को एप, वेबसाइट बनाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के बाद साफ्टवेयर डेवलपमेंट का कार्य किया जा सकेगा।

जीजीआईसी में अध्ययनरत कक्षा छह से 12 तक की 100 छात्राओं को स्मार्ट क्लास और कम्प्यूटर कोडिंग प्रोग्राम के लिए चयन किया गया है। इसका शुभारंभ सोमवार को महिला दिवस के मौके पर वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने विधिवत शुभारंभ किया।

सीडीओ पुलकित गर्ग ने बताया कि प्रदेश में यह पहला कॉलेज है, जहां कोडिंग प्रोग्राम शुरू किया जा रहा है। आईआईटी दिल्ली के राहुल खंडेलवाल छात्राओं को कोडिंग सिखाएंगे। राहुल ने बताया आज हर किसी के हाथ में स्मार्ट फोन है। इसके माध्यम से कई अहम चीजें सर्च की जा रही हैं। स्मार्ट फोन में कोडिंग के माध्यम से वेबसाइट और सॉफ्टवेयर आसानी से बनाया जा सकता है। उन्हाेंने बताया कि कोडिंग से ही कम्प्यूटर को बताया जाता है कि उसे क्या करना है। यानी कम्प्यूटर को जिस भाषा को समझता है उसे कोडिंग कहा जाता है। तीन माह में साफ्टवेयर के बारे में बताया जाएगा। इसके बाद साफ्टवेयर डेवलपमेंट का कार्य किया जा सकेगा।

 

 

यह भी पढ़ें:  सिद्धार्थनगर/बांसी: लेखपाल का रुपये मांगने का ऑडियो वायरल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here